सरकारी टीचर (Government Teacher) कैसे बने Step By Step जानें

सरकारी टीचर Government Teacher बनने के लिए सर्वप्रथम आपको शिक्षण के प्रति अपनी रुचि को जागृत करना होगा। जो आपको अध्यापक बनने की ओर प्रेरित करेंगी। सरकारी टीचर बनने के बाद आप एक अच्छा जीवनयापन व्यतीत कर सकते हैं।

टीचर कैसे बनें? (Teacher Kaise Bane) भारत में हर साल लाखों लोग सरकारी टीचर बनने के लिए आवेदन करते हैं और कई ऐसे छात्र भी होते हैं। जिनकी अध्यापक बनने मे रुचि होती हैं। लेकिन उचित मार्गदर्शन न मिल पाने के कारण वह इस दिशा की ओर अग्रसर नहीं हो पाते।

अगर ऐसे छात्रों को उचित मार्गदर्शन और दिशा-निर्देश मिले तो वह भी सरकारी टीचर बन सकते हैं। आज हम इस पोस्ट के माध्यम से जानिंगे कि सरकारी टीचर (Government Teacher) कैसे बनें Step by Step जानें। Teacher Kaise Bane Sarkari

सरकारी टीचर कैसे बनें Step by Step जानें |Government Teacher Kaise Bane

सरकारी टीचर या प्राइवेट टीचर बनने के लिए यह आवश्यक हैं कि आपको सरकारी टीचर बनने के मार्ग का पता हो। सर्वप्रथम यह आवश्यक हैं कि आपको यह पता होना चाहिए कि आप इन-इन शिक्षाओं को प्राप्त कर सरकारी टीचर बन सकते हैं।

आज हम इस पोस्ट (Teacher Kaise bane) के माध्यम से जानिंगे की वह कौन-कौन से कोर्स हैं। जिन्हें करके आप सरकारी टीचर बन सकते हैं। आप निम्न कोर्स करने के बाद सरकारी टीचर बन सकते हैं। जो इस प्रकार हैं –

Step 1: 12th (इंटरमीडिएट) की परीक्षा पास करें

सरकारी टीचर बनने के मार्ग की प्रथम सीढ़ी हैं इंटरमीडिएट। इसके अंतर्गत आपको यह चयन आवश्यक हैं कि आप किस विषय को पढने में रुचि ले रहे हैं। आपका यह Selection आगे चलकर आपको शिक्षक बनने के लक्ष्य के पीछे एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी।

Step 2: Graduation Course करें

ग्रेजुएशन के अंतर्गत कोर्स (BA,BSC,B.COM) का चयन आपको अपने 11th और 12th के विषयों के आधार पर करना अनिवार्य हैं। अगर 11th और 12th में आपकी Science Side हैं तो आपको BSC Course का चयन करना चाहिए। इसी तरह अगर Math हैं तो B.COM Course एवं Art Subjects (Political Science, History, Economics etc.) हैं तो BA Course करना चाहिए।

ग्रेजुएशन का कोर्स करते समय आपको यह जरूर ध्यान देना चाहिए कि आपका Subject Combination बन रहा हैं जैसे- राजनीति-विज्ञान का इतिहास के साथ संबंध होता हैं। अन्यथा भविष्य में आपको किसी समस्या का सामना करना पड़ सकता हैं।

Step 3: Post Graduation Course करें (केवल उच्च शिक्षा का अध्यापक बनने के लिए ही करें)

teacher kaise bane

हालांकि आप सिर्फ Graduation के साथ B.Ed या विशेष शिक्षा प्राप्त कर अध्यापक बन सकते हैं। लेकिन अगर आप PGT Teacher या Lecturer या Professor बनना चाहते हैं। तो आपको Post Graduation करना अनिवार्य हैं। यह एक विषय से होता हैं।

अगर आपने ग्रेजुएशन बीए से किया है तो MA Course, बीएससी किया है MSC Course और यदि बीकॉम किया हैं तो M.COM Course करें। याद रहे ये उस विषय से करें। जिसमें आपकी रुचि हो और उस विषय का ज्ञान आपको अधिक हो। यह विषय आपके ग्रेजुएशन के विषयों में से एक होना चाहिए।

Step 4: B.Ed Course करें

अगर आप सरकारी टीचर बनना चाहते हैं। तो आपको B.Ed Course करना अनिवार्य हैं। यह आपके अंदर शिक्षण के कौशलों का विकास करता हैं। इसके अंतर्गत आपको Teaching Traning या Real Teaching जैसे अवसर प्रदान किए जाते हैं।

B.Ed कोर्स 2 वर्षों की अवधि का कोर्स होता हैं। अगर आप सामान्य वर्ग के हैं तो आपको 50% अंकों के साथ और यदि आप अनुसूचित जाति या जनजाति से हैं। तो आपको 45% अंको के साथ पास करना अनिवार्य हैं। इस कोर्स को करने के बाद यदि आप चाहें तो किसी Private Schools में अध्यापक के पद पर नियुक्त हो सकते हैं।

Step 5: CTET और TET परीक्षाओं को Clear करें

CTET (Central Teacher Eligibility Test) और TET (Teaching Eligibility Test) यह शिक्षक के शिक्षक बनने का प्रमाण हैं। इन परीक्षाओं को पास करने के बाद आप KVS और NVS विद्यालयों की अध्यापक भर्ती परीक्षाओं हेतु योग्य हो जाते हैं।

जानें- CTET क्या होता हैं?

इन दोनों परीक्षाओं दो भागों में होती हैं। प्रथम परीक्षा और द्वितीय परीक्षा इसकी प्रथम परीक्षा 1 से 5 तक कि कक्षाओं के अध्यापकों के लिए होती हैं। द्वितीय परीक्षा 6 से 8 तक के कक्षाओं के अध्यापक बनने की रुचि रखने वाले छात्रों के लिए होती हैं।

Step 6: D.El.Ed Course करें (B.Ed के विकल्प के रूप में)

अगर आप Primary Level पर टीचर बनने की सोच रहे हैं तो आप B.Ed Course के स्थान पर D.El.Ed Course कर सकते हैं। यह कोर्स भी बीएड की ही भांति 2 वर्ष का होता हैं। जिसमें आपके शिक्षण संबंधित कौशलों में वृद्धि करने का कार्य किया जाता हैं।

अगर आप सरकारी टीचर बनना चाहते हैं तो इस कोर्स को करने के बाद आपको CTET या TET जैसी परीक्षाओं को Clear करना आवश्यक हैं। इस कोर्स को करने के बाद आप Private Primary Schools में भी शिक्षण संबंधित कार्य कर सकते हैं।

TGT Teacher कैसे बनें? (Teacher Kaise Bane)

TGT (Trained Graduate Teacher) टीचर बनने के लिए आपको ग्रेजुएशन और बीएड 50% अंकों से पास करना अनिवार्य हैं। इसके साथ-साथ आपको TET जैसी परीक्षा पास करना भी जरूरी हैं। TET अध्यापक बनने के पश्चात आप 6 से 10 तक कि कक्षाओं के टीचर बन सकते हैं।

PGT Teacher कैसे बनें?

PGT (Post Graduation Teacher) टीचर बनने के लिए Post graduation (MA, MSC,M.COM) के साथ-साथ B.Ed होना अनिवार्य हैं। अगर आप सामान्य वर्ग से हैं तो इनमें 50% अंक और यदि आप अनुसूचित जाति या जनजाति से हैं तो 45% अंको के साथ पास होना अनिवार्य हैं।

इसके साथ-साथ आपको PGT सरकारी टीचर बनने के लिए CTET और TET जैसी परीक्षाएं पास करना अनिवार्य हैं। जो अध्यापक की गुणवत्ता की पात्रता का प्रमाण होती हैं। उसके बाद PGT Teacher की पोस्ट के लिए आवेदन कर सरकारी टीचर बन सकते हैं और चाहें तो Private School में भी PGT Post Join कर सकते हैं।

Professor कैसे बनें?

अगर आप किसी महाविद्यालय में प्रोफेसर बनना चाहते हैं तो आपको Post Graduation के बाद Net की परीक्षा पास करना अनिवार्य हैं। आप P.Hd कर सकते हैं। यह सब करने के बाद आपको Assistant Professor के पद पर नियुक्त किया जाए। जिसमें आपको अच्छा खासा वेतन दिया जाता हैं।

Assistant Professor बनने के बाद जब आपके पास अनुभव हो जाता हैं। तो आपको Pramotion के तौर पर Professor बना दिया जाता हैं। इसके साथ ही साथ आने वाले भविष्य में आपके योगदान को देखते हुए। आपको उस विषय का HOD (Head of Department) बना दिया जाता हैं।

निष्कर्ष |Conclusion

टीचर कैसे बनें? (Teacher Kaise Bane) सरकारी या प्राइवेट टीचर बनने के लिए यह आवश्यक हैं कि सर्वप्रथम आप सभी शैक्षिक योग्यताएं प्राप्त करें। जो आपको शिक्षक बनने हेतु सहायता प्राप्त करें।

जैसे – Graduation,Post Graduation,B.Ed, D.El.Ed और CTET, TET जैसी परीक्षाएं। इसके साथ-साथ उस विषय में आपकी रुचि,अनुभव और ज्ञान होना अत्यंत आवश्यक हैं। जिस विषय के आप टीचर बनना चाहते हैं।

तो दोस्तों आज आपने जाना कि सरकारी टीचर कैसे बनें? (Government Teacher Kaise Bane) अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने अन्य मित्रों के साथ भी अवश्य शेयर करें।

Previous articleसीटेट (CTET) क्या हैं योग्यता,पाठ्यक्रम और वैधता
Next articleपारिस्थितिकी तंत्र (Ecosystem) क्या हैं? पारिस्थितिकी (Ecology) और पारिस्थितिकी तंत्र में अंतर
नमस्कार दोस्तों मेरा नाम पंकज पालीवाल है, और मैं इस ब्लॉग का फाउंडर हूँ. मैंने एम.ए. राजनीति विज्ञान से किया हुआ है, एवं साथ मे बी.एड. भी किया है. अर्थात मुझे S.St. (Social Studies) से जुड़े तथ्यों का काफी ज्ञान है, और इस ज्ञान को पोस्ट के माध्य्म से आप लोगों के साथ साझा करना मुझे बहुत पसंद है. अगर आप S.St. से जुड़े प्रकरणों में रूचि रखते हैं, तो हमसे जुड़ने के लिए आप हमें सोशल मीडिया पर फॉलो कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here