सुबह जल्दी उठने के तरीके |Subah Jaldi Kaise Uthe

क्या आप भी सुबह जल्दी उठना चाहते हैं और अन्य लोगों की तरह अनेकों काम करना चाहते है जैसे- जिम जाना, वाक पर जाना,व्यायाम करना या फिर पढ़ाई करना। आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से आसान से कुछ मनोवैज्ञानिक और लॉजिकल Tips बताएंगे। जिनको फॉलो करके आप भी रोज बिना किसी आलस के जल्दी उठ सकेंगे।

subah jaldi kaise uthe hindi

Subah Jaldi Kaise Uthe दोस्तों कई बार ऐसा होता हैं कि हमें सुबह किसी कारणवश जल्दी उठना पड़ना हैं। जैसे- परीक्षा आने पर हमें अलार्म लगाकर उठना पड़ता हैं और ऐसे में जब हमारे Exams खत्म हो जाते हैं तो हम वापस से देर में उठना शुरू कर देते है। जल्दी उठना या जल्दी सोना ये सब आपकी आदत पर ही निर्भर करता हैं।

ऐसे में आप भी जल्दी उठने की आदत डाल सकते हैं जिससे आप भी अन्य लोगों की तरह स्वस्थ और Active रह सकें। यह आदत आपके हर जगह काम आएगी फिर चाहें आप कोई व्यवसाय ही क्यों न करते हो। तो चलिए अब बिना देरी के जानते हैं कि किन-किन बातों को फॉलो करके आप जल्दी उठने की आदत डाल सकते हैं। Subah Jaldi Kaise Uthe

सुबह जल्दी कैसे उठे |Subah Jaldi Kaise Uthe

जल्दी उठने के कुछ सामान्य से तरीके आप जानते होंगे। जिन्हें आप अपने जीवन मे जल्दी उठने के लिए फॉलो भी करते होंगे। लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसे Tips देंगे। जिनकी सहायता से आप जल्दी उठने की एक आदत बना सकते हैं। तो चलिए जानते हैं कि आप कैसे सुबह जल्दी उठ सकते हैं या आप कैसे सुबह जल्दी उठने की आदत डाल सकते हैं।

इसके लिए आप नीचे बताए जाने वाले किसी भी टिप को अपनी लाइफ में लागू कर सकते है और सुबह उठने के समय मे बदलाव देख सकते हैं। सुबह जल्दी उठने (Subah Jaldi Kaise Uthe) के लिए निम्न Tips को जानना अत्यंत आवश्यक हैं-

Alarm (अलार्म)

जी हाँ दोस्तों Alarm जल्दी उठने का एक पुराना तरीका हैं। प्रारंभिक समय मे मुर्गा अपनी आवाज से अलार्म का काम किया करता था। जिससे लोगों को पता चलता था कि अब सुबह हो गयी हैं और वह लोग जल्दी उठ जाते हैं। वर्तमान समय मे भी 95% लोग जल्दी उठने के लिए अलार्म का ही सहारा लेते हैं।

अगर आप जल्दी उठने के लिए अपने मोबाइल फ़ोन में अलार्म लगाते हैं तो हम आपको सुझाव देंगे कि आप उस अलार्म में ऐसी आवाज (Ringtone) लगाए जो तेज और पूर्ण रूप से Active करने वाली हो।

इच्छा शक्ति (Willpower)

इच्छाशक्ति वह होती हैं जिसमें मनुष्य यह सोच कर चलता है कि उसे कोई काम करना है तो करना ही हैं। फिर वह मनुष्य उस काम मे किसी प्रकार का कोई Compromise नहीं करता। अगर आप बिना अलार्म के या बिना किसी ही सहायता लिए जल्दी उठने की आदत डालना चाहते हैं।

तो आपको उस काम के प्रति अपनी इच्छाशक्ति जागृत करनी होगी। इसके लिए आप उस काम को करने के बाद का फल के बारे में सोच सकते हैं। जो आपके लिए एक Reinforcement (पुनर्बलन) का कार्य करेगा। आपको उस काम करने की आवश्यकता और उसके बाद मिलने वाली संतुष्टि को याद रखना अनिवार्य हैं। जो आपको सुबह जल्दी उठकर वह काम करने की ओर प्रेरित करेगी।

उत्सुकता (Curiosity)

आपने कभी देखा होगा कि जब आप किसी काम को करने के प्रति उत्सुक होते हैं और उसके लिए आपको जल्दी उठना होता हैं। तो ऐसे में कभी-कबार अलार्म की Ring बजने से पहले ही आपकी नींद खुल जाती हैं। जैसे- कही घूमने जाने की उत्सुकता,किसी से मिलने की उत्सुकता या अपने मन पसंदीदा काम करने की उत्सुकता।

आप जिस काम को करने के लिए सुबह जल्दी (Subah Jaldi Kaise Uthe) उठना चाहते हैं आपको उस काम को करने के लिए अपनी उत्सुकता को जागृत करना होगा। इसके लिए आप इच्छाशक्ति को जागृत करने की भांति उस कार्य के बदले मिलने वाले फल को याद कर सकते हैं। जो वाकई में उस काम के प्रति उत्सुकता जागृत करने में आपकी सहायता करेगा।

21 दिन तक जल्दी उठे (Get up Early for 21 Days)

दोस्तों Psychology में एक कहावत हैं कि अगर किसी काम को 21 दिन लगातार करो तो वह आपकी आदत बन जाता है और उसके बाद वह काम स्वचालित (Automatic) रूप से होने लगता हैं। अर्थात 21 दिन के बाद हमें वह कार्य करने के लिए सोचना नहीं पड़ता। आप जल्दी उठने की आदत बनाने के लिए मनोविज्ञान के इस नियम को फॉलो कर सकते हैं।

इसके लिए बस आपको 21 दिनों तक कुछ भी करके उठना ही उठना हैं। इसके लिए आप ऊपर और नींचे बताए जाने वाले तरीकों को लगातार 21 दिन तक अपने जीवन मे फॉलो अवश्य करें। जिसके बाद एक समय ऐसा आएगा कि आपको जल्दी उठने की आदत पड़ जाएगी। फिर आपको किसी भी अलार्म की आवश्यकता नही पड़ेगी।

दिन भर खुश रहें (Be Happy All Days)

आज के Stress भरे जीवन मे किसी के लिए भी खुश रहना असंभव सा प्रतीत होता हैं। लेकिन इसके बाद भी हम आपको यह सुझाव देंगे कि यदि आप सुबह जल्दी उठना चाहते हैं। तो आपको दिन भर खुश रहना चाहिए। ताकि आप रात्रि के समय अच्छी नींद पूरी कर सकें। एक अच्छी नींद के लिए यह जरूरी होता हैं कि 6 से 7 घण्टे की नींद पूरी की जाए।

अक्सर जो लोग ज्यादा तनाव में रहते हैं वह रात को बिस्तर में सोते समय भी कुछ न कुछ सोचते रहते हैं। जिससे कभी-कबार उन्हें नींद आने में समय लग जाता हैं या वह बेचैनी महसूस करने लगते हैं। जिस कारण वह सुबह जल्दी नही उठ पाते। यदि आप खुश रहते हैं और अपने जीवन को तनाव मुक्त रखते हैं तो ऐसे में आपको अच्छी नींद प्राप्त होती हैं। जो आपको सुबह जल्दी उठने में आपकी सहायता करती हैं।

अपने उद्देश्य को पहचाने (Focus your Aim)

Subah Jaldi Kaise Uthe आपको चाहिए कि आप अपने लक्ष्य को पहचाने उस लक्ष्य या उद्देश्य को प्राप्त करने के बाद मिलने वाले पुरुष्कार के बारे में सोचे। आपको सदैव अपना उद्देश्य सेट करके रखना होगा। जैसे आपको वह काम करना है फिर चाहें उसके लिए आपको कुछ भी करना पड़े।

ऐसे में आपको अपने लक्ष्य के साथ किसी भी प्रकार का कोई Compromise नहीं करना है। अगर आप ऐसा करते हैं तो शायद आप आलस के कारण सुबह जल्दी न उठ पाए। आपको सदैव अपने जीवन मे स्पष्ट उद्देश्यों के चयन करना अनिवार्य होता है।

उठते की लाइट जलाए (Get Light First in the Morning)

दोस्तों जब आप सुबह जल्दी उठ जाते है और उसके बाद आपको आलस आता हैं और दुबारा से सो जाने का मन करता हैं। तो ऐसे आलस से बचने के लिए आपको उठते ही कुछ भी करके अपने Room की Light on कर लेनी चाहिए। ऐसा करने से हम Active हो जाते हैं। जिसके बाद आप आसानी से अपनी नींद को खोल सकते हैं।

इसके साथ ही आप Coffee का भी सहारा ले सकते हैं जो पूर्ण रूप से आपको सक्रिय रखने में सदैव ही अपनी अहम भूमिका निभाती हैं।

व्यायाम (Exercise)

अगर आप सुबह जल्दी उठने (Subah Jaldi Kaise Uthe) के बाद के आलास को दूर करना चाहते हैं और अपने आप नींद खुलने के समय को निर्धारित करना चाहते हैं। तो हम आपको व्यायाम करने का सुझाव देंगे। व्यायाम करने के आपका मन,मस्तिष्क और शरीर सदैव सुरक्षित रहता हैं। हमारे शरीर के सभी भाग अच्छे से काम करते हैं।

इसके साथ ही यह व्यक्ति को सदैव Active (सक्रिय) रखने में भी अपनी अहम भूमिका निभाता हैं। व्यायाम करना सिर्फ सुबह जल्दी उठने के लिए ही फायदेमंद नहीं है अपितु यह पूरे शरीर को स्वस्थ रखने में और आयु में वृद्धि करने में भी सहायक होता हैं।

मदिरापान का सेवन न करें (Don’t Drink Alcohol)

यदि आप किसी भी प्रकार के नशीले पदार्थ का सेवन करते हैं तो ऐसे में हमारे शरीर अस्वस्थ होने लगता हैं। जिस कारण सुबह जल्दी न उठ पाने की समस्या होने लगती हैं और जल्दी उठने में आलास आने लगता हैं। यदि आप सुबह जल्दी उठने की आदत डालना चाहते हैं तो ऐसे में सबसे पहले आपको नशे की आदतों को छोड़ना होगा।

आपको सदैव नियंत्रित और स्वस्थ आहार लेना चाहिए। समय-समय पर पानी पीना चाहिए और आप फल का सेवन भी कर सकते हैं।

जाने- 110 Psychology Facts (हिंदी मे)

यदि आप इन सभी बातों को अपने जीवन मे अपनाते हैं तो यकीन मानिए आप शीघ्र ही जल्दी उठना सीख जाएंगे और आपका अपनी नींद पर नियंत्रण होने लगेगा। जिसके बाद आप भी सुबह जल्दी उठकर अपनी आवश्यकता अनुसार अन्य कार्य कर सकेंगे।

निष्कर्ष – Conclusion

दोस्तों आज के समय मे हर कोई एक दूसरे से आगे निकलना चाहता हैं और आगे निकलने के लिए जरूरी हैं कि आप अपने मे सुबह जल्दी उठने जैसी आदतों का विकास करें। यह आदत आपको सफल बनाने और अपने लक्ष्य की ओर आपको प्रेरित करने मे भी अपनी अहम भूमिका निभाती हैं।

हम आशा करते है कि हमारी इस पोस्ट सुबह जल्दी कैसे उठे (Subah Jaldi Kaise Uthe) को पढ़ने के बाद आपको भविष्य में लाभ होगा। अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने अन्य साथियों के साथ भी अवश्य शेयर करें।

Previous articleNATO क्या हैं और इसका इतिहास
Next articleशिक्षा मनोविज्ञान क्या हैं और इसकी परिभाषा
Pankaj Paliwal
नमस्कार दोस्तों मेरा नाम पंकज पालीवाल है, और मैं इस ब्लॉग का फाउंडर हूँ. मैंने एम.ए. राजनीति विज्ञान से किया हुआ है, एवं साथ मे बी.एड. भी किया है. अर्थात मुझे S.St. (Social Studies) से जुड़े तथ्यों का काफी ज्ञान है, और इस ज्ञान को पोस्ट के माध्य्म से आप लोगों के साथ साझा करना मुझे बहुत पसंद है. अगर आप S.St. से जुड़े प्रकरणों में रूचि रखते हैं, तो हमसे जुड़ने के लिए आप हमें सोशल मीडिया पर फॉलो कर सकते हैं।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here