110 Psychology Facts in Hindi |मनोविज्ञान के महत्वपूर्ण रोचक तथ्य

Psychology Facts (मनोवैज्ञानिक तथ्य) वह सत्य हैं, जिन तथ्यों को मनोविज्ञान में महत्वपूर्ण स्थान दिया जाता हैं। इन समस्त तथ्यों को मानसिक क्रियाओं के स्वचलित होने के रूप में देखा जाता हैं, अर्थात यह सब न चाहते हुए भी अपने आप क्रिया या विचारात्मक रूपों में होने लगती हैं। 

इन समस्त मनोवैज्ञानिक तथ्यों से सिर्फ मनुष्य ही प्रभावित नहीं होते अपितु समस्त जीवों में भी इन तथ्यों के लक्षणों को देखा जाते रहा हैं। हमने अपनी पिछली पोस्ट में मनोविज्ञान और बाल-मनोविज्ञान के संबंध में विस्तारपूर्वक जाना और इनकी उपयोगिता एवं महत्व से भी परिचित हुए। 

आज हम मनोवैज्ञानिक तथ्यों से जुड़ी 110 बातों के बारे में जानिंगे। जिन्हें प्रत्येक व्यक्ति द्वारा स्वीकार या महसूस किया जाता हैं। जिस कारण इन्हें Psychology Facts के रूप में देखा जाता हैं। 

Psychology Facts in Hindi |मनोविज्ञान के महत्वपूर्ण रोचक तथ्य

psychology facts in Hindi

मनोविज्ञान को मन एवं व्यवहार का विज्ञान कहा जाता हैं। क्योंकि इस विज्ञान में मनुष्य एवं प्राणियों की मानसिक क्रियाओं एवं विचारों का अध्ययन किया जाता हैं। आज हम मनोविज्ञान के तथ्यों (psychology facts)  से संबंधित निम्न विषयो के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करिंगे – 

● Psychology Facts about Study (1 to 20)

● Psychology Facts about Girl (21 to 40)

● Psychology Facts about Brain (41 to 60)

● Psychology Facts about Love (61 to 80)

● Psychology Facts about Personality (81 to 100)

● Psychology Facts about Society (100 to 110)

आज हम इस पोस्ट के माध्यम से इन समस्त Topics के संबंध में मनोवैज्ञानिक तथ्यों को जानिंगे।

● Psychology Facts About Study (1-20)

1. मनोविज्ञान के अनुसार जब कोई व्यक्ति अपना समय पढ़ाई में अधिक देता हैं। तो उसके आत्मविश्वास में वृद्धि होने लगती हैं।

2. जब कोई छात्र कक्षा में उच्च प्रदर्शन करता हैं, तो अध्यापकों की रुचि एवं सहानुभूति उस बच्चे के लिए बढ़ जाती हैं। 

3. 3-4 घण्टे पढ़ाई को देने के बाद व्यक्ति के व्यक्तित्व में स्थिरता आती हैं और उसे ध्यान केंद्रित (Meditation) करने की भी आवश्यकता नहीं पड़ती।

4. ज्यादा पढ़ाई करने से व्यक्ति जल्दी परिपक्व एवं समझदार हो जाता हैं।

5. मनोविज्ञान के अनुसार प्रकरण को जल्दी और स्थायी रूप से याद करने के लिए उसे समझ कर पढ़ना अधिक लाभदायक हो सकता हैं।

6. Notes बनाकर किसी प्रकरण को पढ़ने से हम ज्यादा समय तक उन बातों को याद रख सकते हैं।

7. Study को अधिक प्रभावशाली बनाने हेतु बीच-बीच में 10 से 15 मिनट तक का हमें आराम करना चाहिए।

8. किसी प्रकरण को अधिक विस्तृत और स्थायी रूप से सिखने के लिए उसे पढ़ते समय उसका मस्तिष्क में दृश्य बनाना अधिगम को प्रभावशाली बनाता हैं।

9. मनोविज्ञान के अनुसार जो व्यक्ति आराम की अवस्था में पढ़ाई करता हैं, उसे 20-25 मिनट में नींद आ जाती हैं।

10. पढ़ाई करते समय अगर नींद आए तो हमें कॉफ़ी पी लेनी चाहिए। ऐसा करने से अधिक समय तक नींद नही आती।

11. अगर हम चिंगम को चबाते-चबाते study करें तो हम किसी भी topic को आसानी से और जल्द समझ सकते हैं।

12. जो छात्र लिखना ज्यादा पसंद करते हैं ऐसे लोगो की understanding power अन्य छात्रों के मुकाबले अधिक होती हैं।

13. जो लोग लिखना ज्यादा पसंद करते हैं, वह अधिक काल्पनिक होते हैं।

14. जो अधिक पढाई करते हैं, उनका व्यवहार अधिक शांत वाला होता हैं।

15. जो व्यक्ति शिक्षित होते हैं वह समाज के साथ समायोजन करने में सफल होते हैं।

16. जो लोग ज्यादा study करते हैं उनका पहनावा साधारण और समान्य होता हैं।

17. ऐसे लोग प्रायः पढाई संबंधित बाते करने में रुचि लेते हैं। 

18. जो लोग study करना पसंद करते हैं प्रायः वो लोग अन्य गतिविधियों में पीछे रहते हैं।

19. ऐसे व्यक्ति किसी विषय पर जल्दी निर्णय ले पाते हैं।

20. शिक्षित व्यक्ति कम emotional होते हैं।

Psychology Facts About girls (21-40) 

21. 90 % लड़कियां अपनी उम्र बताने में संकोच करती हैं।

22. लडकिया लड़को के मुकाबले अधिक झूठ बोलती हैं।

23. जो लड़कियां अधिक सुंदर होती हैं, वो ज्यादातर single होती हैं, क्योंकि अक्सर लड़के ऐसी लड़कियों को देख कर यह सोचते हैं कि इसका B.F होगा।

24. मनोविज्ञान के अनुसाए ज्यादातर लड़कियों को shopping करना और mackup करना अच्छा लगता हैं।

25. लड़कियां लड़कों के मुकाबले अधिक भावुक होती हैं, जिस कारण वह अपने जीवन मे लड़को के मुकाबले अधिक दुखी रहती हैं।

26. लड़कियों को अपनी तारीफ सुनना पसंद होता हैं, कोई लड़का उनके सामने किसी लड़की की तारीफ करें, यह उन्हें बिल्कुल पसंद नहीं।

27. लड़कियों को अक्सर वो लड़के पसंद आते हैं, जो अपने भविष्य को लेकर सजक होते हैं।

28. मनोवैज्ञानिको के अनुसार लड़कियां अपनी सोच से विपरीत कार्य करती हैं, जिस कारण उन्हें समझ पाना अत्यंत मुश्किल होता हैं।

29. लड़कियों को ऐसे लड़के बहुत पसंद आते हैं जो उनकी बहुत care करते हैं। लड़कियों की नजर में अपने को अच्छा सिद्ध करने के लिए आपको निरंतर उनको विश्वास दिलाने की आवश्यकता होती हैं, इसलिए कभी-कभी यह इंतजार काफी लंबा हो जाता हैं।

30. लड़कियां अपने भावों को छुपा नहीं पाती, अक्सर जब कोई लड़की दुखी होती हैं तो वह अकेले रहना और कम बोलना पसंद करती हैं।

31. लड़कियां इशारों में बात करना ज्यादा पसंद करती हैं। जब कोई लड़की किसी से सच्चा प्यार करती हैं, तो वह उसके लिए रोती हैं और हर परिस्थिति में उसका साथ निभाती हैं।

32. लड़कियां भावात्मक बात सुनना पसंद करती हैं। 

33. लड़कियां लड़को के मुकाबले अधिक इंतजार कर सकती हैं, यहाँ तक कि वह अपने crush से भी अपने प्यार का इजहार नहीं कर पाती।

34. लड़कियां अपनी feelings का इजहार इशारों से और अपनी मुस्कुराहट से करती हैं।

35. लड़कियां लड़को से अधिक विश्वशनीय होती हैं। वह अपने प्रिय व्यक्ति की बुराई कभी नही सुन सकती।

36. लड़कियों से जब कोई किसी topic को लेकर सलाह मशवरा मांगता हैं तो उन्हें वह बहुत अच्छा लगता हैं।

37. लड़कियों को planning करना और बहुत सारी बातें करना बहुत अच्छा लगता हैं।

38. लड़कियां लड़को के मुकाबले कम depressed रहती हैं, क्योंकि वह अपनी ज्यादातर बाते अपने मित्रों से शेयर कर देती है, जिस कारण उन्हें अनेक सुझाव प्राप्त हो जाते हैं।

39. अक्सर लड़कियों को दिखावा करने वाले लोग पसंद नहीं आते।

40. लड़कियो को जब गुस्सा आता हैं, वह या तो चुप हो जाती हैं या फिर अपना नुकसान करती हैं।

Psychology Facts About Brain (41-60)

41. हम अपने दिमाग का उपयोग 1-3% तक ही कर पाते हैं।

42. किसी के संबंध में अधिक विचार करने से उसकी छवि हमारे दिमाग मे स्थायी रूप से विद्यमान हो जाती हैं।

43. किसी क्रिया या परिस्थिति के बारे में ज्यादा सोचने से हम पुरानी बातें भूलने लगते हैं।

44. हमारा मस्तिष्क उन्ही बातों को स्मरण रखता हैं, जो हमारे लिए अधिक सुखदायी होते हैं।

45. हमारा दिमाग अकसर उन लोगों के बारे में ज्यादा सोचता हैं, जिन्हें हम खुद से ऊपर या श्रेष्ठ समझते हैं। 

46. हमारा दिमाग अक्सर नई-नई चीजों को देखना एवं नए विचारों को अर्जित करना पसंद करता हैं।

47. मनोविज्ञान के अनुसार किसी आदत को बनाने या छोड़ने में हमारे 21 दिन अति-महत्वपूर्ण होते हैं। 

48. कभी-कभी हमें ऐसा लगता हैं कि हम किसी के बारे में सोच या विचार कर रहे हैं। पर वास्तव में हमें यह पता नही होता कि हम किसके बारे में सोच और विचार कर रहे हैं।

49. मनोविज्ञान के अनुसार हमारा मस्तिष्क sex के अभाव में depression में जाने लगता हैं। यह हमारे स्वस्थ मस्तिष्क हेतु अति आवश्यक हैं।

50. मनोवैज्ञानिकों के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति एक-दूसरे की चुगली करता हैं किसी न किसी से। यहाँ तक कि जो उसका प्रिय होता हैं वह उसकी बातें दूसरों से अधिक शेयर करता हैं। 

51. किसी से बात करके एवं उसे अपनी समस्या बताने से हमारा मस्तिष्क तनाव (depression) से दूर रहता हैं।

52. जिस समस्या का समाधान हमारे पास नहीं होता। उस समस्या का समाधान करने के लिए हमें सही समय का इंतजार करना चाहिए। 

53. जो व्यक्ति सभी के साथ ज्यादा खुश-और उत्सुक दिखते हैं वो लोग असल जिंदगी में ज्यादा दुखी होते हैं।

54. जो व्यक्ति अपने Phone को ज्यादा उपयोग करते हैं खासकर games मे ऐसे व्यक्तियों का brain धीरे-धीरे कार्य करता हैं और उनको भूलने की बीमारी हो जाती हैं।

55. हमारा mind सकारात्मक चीजों से ज्यादा नकारात्मक विचारों के संबंध में ज्यादा सोचता हैं। 

56. हमारा मस्तिष्क भविष्य के बारे में अधिक सोचता हैं। 

57. हमारा मस्तिष्क देखी हुई वस्तुओं को अधिक समय तक स्मरण रख पाता हैं।

58. शुद्ध एवं प्राकृतिक वातावरण में जाने के बाद हम सदैव सकारात्मक अनुभव करने लगते हैं।

59. हमारा मस्तिष्क कभी-कभी दो विचारों को व्यक्त करता हैं, जिस कारण हम निर्णय नहीं ले पाते।

60. हमारा मस्तिष्क दूसरों को read करने में माहिर होता हैं।

Psychology Facts About Love (61-80)

61. प्यार में पड़ने पर व्यक्ति अक्सर उसी के ख्यालों में खोए रहने एवं उसी इंसान के संबंध में अपने विचार व्यक्त करने में रुचि लेता हैं।

62. प्यार में पड़ने वाले लोग अक्सर अलसी और emotional होते हैं।

63. प्यार में व्यक्ति अक्सर सही और गलत के मध्य भेद नही कर पाता। जिस कारण वह धोखा खाता हैं।

64. दो प्रेमी जब कभी आपस में मिलते हैं तो उनके दिमाग मे अन्य किसी से संबंधित विचार नही आते बल्कि वह उस समय भी एक-दूसरे के संबंध में ही विचार करते हैं।

65. मनोविज्ञान के अनुसार अपने प्यार का इजहार सबसे पहले लड़के करते हैं क्योंकि वो अपनी feelings को अधिक समय तक छुपाने में असमर्थ होते हैं।

66. मनोविज्ञान के अनुसार जब कोई लड़का या लड़की प्यार में धोखा खाते हैं तो वह बुरी संगत की ओर ज्यादा प्रभावित होने लगते हैं। 

67. मनोवैज्ञानिकों के अनुसार love marriage के sucess होने के chance बहुत कम होते हैं, क्योंकि प्यार में व्यतीत किये समय मे अक्सर लोग दिखावा करना पसंद करते हैं। जिस कारण वह एक-दूसरे को अच्छी तरह नहीं जान पाते।

68. लड़के अकसर लड़कियों के मुकाबले कम emotional होते हैं, जिस कारण सच्चे प्यार में अक्सर लड़को से ज्यादा दुख लड़कियों को होता हैं। 

69. मनोविज्ञान के अनुसार Attraction वाला प्यार ज्यादा से ज्यादा 2 या 3 महीने ही टिक पाता हैं। वह जितनी जल्दी होता हैं उतनी ही जल्दी खत्म भी हो जाता है।

70. चाहें हम पूरे दिन कितनी भी लड़कियों से फ़्लर्ट करें लेकिन रात को सोने से पहले हम उस लड़की के बारे में जरूर सोचते हैं, जिससे हम सच्चा प्यार करते हैं।

71. हमारे सपने में वो ही लोग आते हैं, जिनकी बातों या जिनका व्यवहार हमारे लिए प्रेम-पूर्ण होता हैं।

72. मनोविज्ञान के अनुसार हम जिस व्यक्ति के लिए जैसा भाव रखते हैं या जैसा सोचते हैं वैसा ही दूसरा व्यक्ति भी हमारे लिए सोच रहा होता हैं।

73. मनोविज्ञान कहता हैं कि हम जिससे प्यार करते हैं अगर उससे सम्बंधित किसी वस्तु को देखे तो हम उसके ख्यालों में खो जाते हैं एवं हमारा मन और किसी कार्य मे नही लगता। 

74. हमारा प्यार अक्सर हमारे लिए painkiller का कार्य करता हैं।

75. हम अपने crush से सिर्फ 3 महीने तक ही attract होते हैं अगर इसके बाद भी crush हमारे दिमाग में है तो वो crush नही प्यार होता हैं।

76. जब हमें किसी से प्यार होता हैं, तो हम दूसरों से अधिक खुद के व्यक्तित्व एवं आदतों के बारे में सोचने लगते हैं।

77. पहला प्यार हमेशा सच्चा होता होता हैं, परंतु इसके बाद भी first love story सफल नही होती।

78. अक्सर लड़कियां उन लड़कों से ज्यादा प्रभावित होती हैं, जो उन्हें हँसाते हैं और उनकी care करते हैं।

79. जो व्यक्ति झूठ बोलने में माहिर होते हैं, वह व्यक्ति दूसरे द्वारा बोले गए झूठ को आसानी से पकड़ लेते हैं।

80. मनोविज्ञान के अनुसार Kiss करने से मानसिक अस्थिरता में स्थिरता आती हैं और जिस कारण Depression कम होता हैं।

Psychology Facts About personality (81-100)

81. हमारा व्यवहार में जो बदलाव आते हैं वो बदलाव अकसर किसी व्यक्ति से मिलने एवं उससे प्रभावित होने के बाद ही आता हैं।

82. हम अकसर उन्हीं लोगों से बात करना या मिलना पसंद करते हैं, जिनका व्यवहार एवं विचार हमसे मेल खाता हो। 

83. हम अपनी personality का आधे का ज्यादा भाग लोगों को नही दिखाते, अर्थात दूसरे के अनुसार हम अपने व्यक्तित्व में परिवर्तन कर उनसे बात करते हैं।

84. हम जब किसी ऐसे व्यक्ति से मिलते हैं, जो हमसे श्रेष्ठ जो तो हम सोने से पहले एक बार उसके बारे में अवश्य सोचते हैं।

85. जो व्यक्ति ज्यादा बोलता हैं वो अकसर अपने अधिकारों की प्राप्ति कर ही लेता हैं।

86. हम मात्र किसी व्यक्ति को देखकर ही उसके पूर्ण व्यक्तित्व के संबंध में जानकारी एकत्रित कर सकते हैं। 

87. मनोविज्ञान के अनुसार हम दूसरों के सामने अपने कौशल का पूर्ण दिखावा करने में संकोच करते हैं। उदाहरण- हम जितना अच्छा नृत्य या संगीत अकेले में गा सकते हैं, उतना उच्च प्रदर्शन हम सभी के सामने नही कर पाते। 

88. हमारे कपड़े पहनने का तरीका एवं Style हमारे व्यक्तित्व को प्रदर्शित करती हैं।

89. जो व्यक्ति ज्यादा शांत प्रिय होते हैं, ऐसे लोग अपने भविष्य को लेकर ज्यादा चिंतित होते हैं, एवं सामान्य जीवन व्यतीत करना पसंद करते हैं।

90. व्यक्ति किसी खुशखबरी या किसी नई वस्तु से शुरुआत के 9 दिनों तक ही लगाव रहता हैं, उसके बाद वह खुशी उसके लिए कम होने लगती हैं।

91. जो लोग अधिक बोलते हैं ऐसे व्यक्तियों में आत्मविश्वास की मात्रा कम बोलने वाले व्यक्तियों से अधिक होता हैं।

92. अगर आप अपने goals को किसी के साथ share नहीं करते तो आपके success होने के चांस काफी बढ़ जाते हैं।

93. अक्सर हम जिन कार्यों को करने के बारे में सोचते हैं या लोगो को बताते हैं, वह कार्य होने की संभावना कम हो जाती हैं।

94. जो व्यक्ति वास्तव में खुद को intelligent समझते हैं, वह लोग वास्तव में कम intelligent होते हैं।

95. हमारा व्यक्तित्व हमारे व्यवहार से प्रदर्शित हो जाता हैं।

96. हम अपने व्यक्तित्व में मन चाहें बदलाव कर सकते हैं।

97. हमारे शरीर मे विभिन्न प्रकार के व्यक्तित्व के गुण पाए जाते हैं।

98. हम सामने वाले व्यक्ति को देखकर अपने व्यक्तित्व को व्यक्त करते हैं।

99. हमारा व्यक्तित्व सदैव खेल की ओर अग्रसर रहता हैं।

100. व्यक्तित्व में बदलाव करने का सबसे अच्छा तरीका अनुकरण (नकल) हैं।

Psychology Facts About Society (101-110)

101. समाज अकसर अनुकरण पर बल देता हैं, अर्थात एक वस्तु का प्रचलन होने पर पूरा समाज उसको अपनाने लगता हैं।

102. समाज अक्सर उन्ही तत्वों को महत्व प्रदान करता हैं, जो समाज के अनुसार ही अपना कार्य करना पसंद करते हैं।

103. समाज पुरानी बातों को अधिक और नवीन बातों पर कम विश्वास करता हैं।

104. लोग हमें वह कार्य करने की ओर ज्यादा प्रेरित करते हैं, जो समाज मे चल रही होती हैं।

105. समाज मे हुई कोई घटना हमारे मस्तिष्क एवं व्यवहार में परिवर्तन करती हैं।

106. हमारा समाज मे नकारात्मक ऊर्जाओं की मात्रा अधिक होती हैं।

107. समाज सदैव से कमजोर वर्ग का शोषण करते आया हैं।

108. समाज में धनी लोगों की बातों को प्रमुखता दी जाती हैं, एवं उन्हें हर कार्य हेतु सक्षम माना जाता हैं।

109. समाज मे अधिक वेतन पाने वाले व्यक्तियों को श्रेष्ठ समझा जाता हैं।

110. वर्तमान समय में लोगों में मानवता कम और भय अधिक मात्रा में व्याप्त हैं, जिस कारण लोग अपने विचारों को प्रकट नही कर पाते।

निष्कर्ष |Conclusion

Psychology Facts in Hindi यह एक मनोवैज्ञानिक रोचक और प्रसिद्ध तथ्य हैं, जिन्हें प्रत्येक व्यक्ति द्वारा महसूस किया जाता हैं इन तथ्यों को स्वचलित कार्यों एवं व्यवहार व विचारों के भंडार के रूप में भी देखा जाता हैं। 

आज इस पोस्ट के माध्यम से हमने मनोवैज्ञानिक रोचक तथ्यों (Psychology Facts in Hindi) के बारे में जाना। अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने अन्य साथियों के साथ भी अवश्य शेयर करें।

Previous articleस्किनर का क्रिया प्रसूत अनुबंधन सिद्धांत |Operant Conditioning Theory (R-S Theory) in Hindi
Next articleIQ Test |बुद्धि-लब्धि परिक्षण क्या हैं? अपना IQ कैसे जानें
नमस्कार दोस्तों मेरा नाम पंकज पालीवाल है, और मैं इस ब्लॉग का फाउंडर हूँ. मैंने एम.ए. राजनीति विज्ञान से किया हुआ है, एवं साथ मे बी.एड. भी किया है. अर्थात मुझे S.St. (Social Studies) से जुड़े तथ्यों का काफी ज्ञान है, और इस ज्ञान को पोस्ट के माध्य्म से आप लोगों के साथ साझा करना मुझे बहुत पसंद है. अगर आप S.St. से जुड़े प्रकरणों में रूचि रखते हैं, तो हमसे जुड़ने के लिए आप हमें सोशल मीडिया पर फॉलो कर सकते हैं।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here