राजनीति क्या हैं – what is politics in Hindi

राजनीति क्या हैं? (What is Politics) राजनीति शब्द का निर्माण दो शब्दों से हुआ हैं- राज+नीति अर्थात किसी सत्ता को पाने के लिए जिस भी योजनाओं का निर्माण किया जाता हैं उसे राजनीति कहा जाता हैं। राजनीति के महान ज्ञाता एवं राजनीति के जनक के रूप में अरस्तू (Arestotal) को जाना जाता हैं। राजनीति एक राज प्राप्त करने के लिए योजना का निर्माण हैं।

इसके द्वारा शासन या सत्ता की प्राप्ति करना सम्भव हैं। एक देश दूसरे देश के साथ या एक राज्य दूसरे राज्य से अपनी बात मनवाने के लिए जिस कूटनीति का प्रयोग करता हैं उसे राजनीति कहा जाता हैं।

राजनीति क्या हैं? What is politics in hindi

राजनीति क्या हैं?

राजनीति का विकास अति प्राचीन काल से ही हो गया था। प्रत्येक राजा सत्ता की प्राप्ति के लिए योजना बनाता था और सत्ता की प्राप्ति हेतु उस योजना के अनुसार ही सभी कार्यो का आयोजन करता था और सत्ता को प्राप्त करता था। प्राचीन काल से ही यह देखा जा रहा हैं कि राजनीति में अहिंसा की जगह हिंसा का सहारा लिया जाता रहा हैं। प्रत्येक राजा या राजनेता सत्ता की प्राप्ति हेतु हिंसा का सहारा लेता हैं एवं सत्ता प्राप्ति हेतु दूसरों के साथ गलत व्यवहार करता हैं। वह राजा या राजनेता सत्ता हेतु दिखावे के सहारा लेता हैं। वह दूसरों की मदद भी अपने स्वार्थ हेतु करता हैं ताकि उसे सत्ता की प्राप्ति हो सकें और उसी को राजनीति (Politics) कहा जाता हैं।

आज के युग में प्रत्येक क्षेत्र में राजनीति का सहारा लिया जाता हैं फिर चाहे वह सत्ता की प्राप्ति हेतु हो या फिर किसी मे अपना वर्चस्व जमाने के लिए या अपने अधिकार की प्राप्ति हेतु आज कल सभी लोग किसी भी कार्य की पूर्ति हेतु नीति का निर्माण करते हैं और जिनकी नीति सबसे अच्छी होती हैं उनकी योजनाएं सफल होती हैं और उनको सत्ता या वर्चस्व की प्राप्ति होती हैं।

Rajniti का उपयोग प्राचीन काल में राजा लोग सत्ता की प्राप्ति हेतु करते थे परंतु वर्तमान में राजनीति का प्रयोग हर जगह किया जा रहा हैं। वर्तमान में राजनीति क्या हैं? (what is politics in hindi) के अर्थ को सामान्यतः एक व्यक्ति या एक देश दूसरे पर वर्चस्व या सत्ता स्थापित करने के लिए जिन योजनाओं का निर्माण करने से लिया जाता हैं। वर्तमान में या प्राचीन काल से ही यह देखा जाता हैं कि प्रत्येक शासक या राजनेता सत्ता के लिए राजनीति का प्रयोग करता हैं और वह सत्ता प्राप्ति तभी कर पाता हैं जब उसकी योजना अर्थात राजनीति (politics) अच्छी एवं गुणवत्ता से पूर्ण हो।

राजनीति की विशेषता

  • राजनीति का निर्माण सामान्यतः सत्ता की प्राप्ति हेतु होता हैं और सत्ता की प्राप्ति हेतु राजनीति का उपयोग किया जाता हैं।
  • राजनीति का क्रियान्वयन प्रायः नीति के आधार पर ही किया जाता हैं।
  • राजनीति की सफलता हेतु प्रायः हिंसा,अहिंसा,एवं दिखावे का सहारा लिया जाता हैं, राजनीति का स्वरूप नेगेटिव एवं पॉजिटिव दोनों होता हैं।
  • राजनीति क्षेत्रीय,राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय तीनों प्रकार से की जाती हैं। एक देश दूसरे देश पर अपना वर्चस्व जमाने के लिए जिस कूटनीति का सहारा लेता हैं उसका निर्माण ही राजनीति से ही होता हैं।
  • राजनीति (पॉलिटिक्स) का निर्माण दो लोगों के मध्य वार्तालाप या क्रिया द्वारा होता हैं।

राजनीति politics कैसे करें?

दोस्तों पहली बात आपको राजनीति करने के लिए एक अच्छी योजना के निर्माण की आवश्यकता पड़ती हैं। उसके लिए आपको अच्छी योजना का निर्माण करना आना चाहिए। राजनीति करने के लिए आपको अपने अंदर रोज पुस्तक पड़ने एवं समाचार सुनने की आदत डालनी होंगी। आपको चाहिए कि आप मजेदार कहानियां सुनें, शासकों एवं सत्ताधारियो की जीवनी एवं उनके किये संघर्षो को जानें।

दूसरी बात आपको अपने व्यक्तित्व में सुधार करना होगा। आपको खुद का व्यक्तित्व विश्वसनीय बनाने की आवश्यकता पड़ेगी। आपको चाहिए कि आप सभी से प्रेमपूर्वक व्यवहार करें तभी आप नीति (योजना) द्वारा दूसरे से अपनी बातें मनवा सकतें हैं। राजनीति करने के लिए आपको निरंतर अध्ययनशील होने की आवश्यकता पड़ेगी। आपको राजनीति विशेषग्यों की जीवनी का विस्तारपूर्वक अध्ययन करने भी भी आवश्यकता पड़ेगी।अरस्तू की जीवनी एवं कौटिल्य की राजनीति के बारे में अध्ययन करना आपके लिए लाभदायक सिद्ध हो सकता हैं अगर आप राजनीति करना चाहते हैं।

निष्कर्ष

दोस्तों राजनीति किसी कार्य में सफल होने में प्रायः आपकी सहायता करती हैं परंतु राजनीति का अच्छा प्रयोग करना विश्व के सभी लोगों का कर्तव्य हैं। राजनीति में सकारात्मक सोच होना बहुत जरूरी हैं। इसके लिए आपको निरंतर सकारात्मक शासक की जीवनी के बारे में अध्ययन करने की जरुरत हैं। तो दोस्तों आज अपने जाना कि राजनीति क्या हैं? (What is politics in hindi) एवं राजनीति कैसे करें? अगर आपको हमारी पोस्ट अच्छी लगी हो तो पोस्ट को लिंक के माध्यम से अपने दोस्तों को भी शेयर करें और अपने सुझाव हेतु संपर्क के माध्यम से हमसे संपर्क करें।

संबंधित पोस्ट – उत्तर आधुनिकतावाद

Previous articleसंशोधित राष्ट्रीय शिक्षा नीति 1992
Next articleगुणवत्तापूर्ण शिक्षा क्या हैं-What is Quality Education in Hindi
नमस्कार दोस्तों मेरा नाम पंकज पालीवाल है, और मैं इस ब्लॉग का फाउंडर हूँ. मैंने एम.ए. राजनीति विज्ञान से किया हुआ है, एवं साथ मे बी.एड. भी किया है. अर्थात मुझे S.St. (Social Studies) से जुड़े तथ्यों का काफी ज्ञान है, और इस ज्ञान को पोस्ट के माध्य्म से आप लोगों के साथ साझा करना मुझे बहुत पसंद है. अगर आप S.St. से जुड़े प्रकरणों में रूचि रखते हैं, तो हमसे जुड़ने के लिए आप हमें सोशल मीडिया पर फॉलो कर सकते हैं।

2 COMMENTS

  1. राजनीति के बारे में आप ने बहुत ही प्रशंसनीय और महत्वपूर्ण जानकारी लिखी है। दिल से धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here