अंतरराष्ट्रीय बैकालॉरियेट (International Baccalaureate in Hindi)

अंतरराष्ट्रीय बैकालॉरियेट (आई०बी०) International Baccalaureate (IB) के प्रारंभ और विकास की अपनी एक प्रक्रिया हैं। इसका प्रारंभ 1968 में किया गया था। जिसका मुख्यालय जिनेवा (स्विजरलैंड) में हैं। इसके अंतर्गत इस समय 3000 से अधिक विद्यालय कार्यरत हैं जिसका विस्तार 141 देशों में हुआ है। इसके इस नाम का नामकरण “पीटर नेहरू” के द्वारा किया गया था।

1960 में जिनेवा के एक विद्यालय मे कुछ अध्यापकों के एक समूह ने अंतरराष्ट्रीय विद्यालय परीक्षाएं सिंडिकेट (ISES) के कार्यक्रम का प्रसारण किया। जिसको ही वर्तमान में अंतरराष्ट्रीय बैकालॉरियेट (IB) के नाम से जाना जाता हैं।

अंतरराष्ट्रीय बैकालॉरियेट (International Baccalaureate)

international baccalaureate kya hai hindi

1968 में इसके कार्यक्रम में वृद्धि हुई और इसकी स्थापना अफ्रीका, यूरोप और एशिया पेसेफिक (AP) में कई गयी। यह संगठन अपने कार्यक्रमों का संचालन स्वयं करता हैं और छात्रों को डिप्लोमा व सर्टिफिकेट भी प्रदान करता हैं।

अंतरराष्ट्रीय बैकालॉरियेट (आई०बी०) छात्रों हेतु चार शैक्षिक कार्यक्रमों का आयोजन करवाता हैं। जो 3 से 19 वर्ष तक चलता हैं। इसमें मध्यम वर्षीय में 8 विषयों का अध्ययन होता हैं। इस कार्यक्रम का आयोजन सर्वप्रथम 1990 मे किया गया और 5 वर्ष के अंदर 51 देशों में इस कार्यक्रम का आयोजन करवाया गया।

जिसके पश्चात IB द्वारा उसके नवीन करियर संबंधित कार्यक्रम (Career Related Programme) का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का आयोजन 16 से 19 वर्ष के छात्रों हेतु किया जाता हैं।

अंतरराष्ट्रीय बैकालॉरियेट की विशेषता (Characteristics of International Baccalaureate, IB)

1. इसकी शैक्षिक प्रकिया एवं नीति व्यवहारवादी है। जिससे शिक्षण के वास्तविक लक्ष्यों की प्राप्ति की जा सकें।

2. यह विद्यार्थियों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शिक्षा प्राप्त करने के अवसर प्रदान करती है। जिससे उनकी शैक्षिक प्रक्रिया को प्रभावशाली बनाया जा सकें।

3. आई०बी० (IB) का पाठ्यक्रम सर्वमान्य हैं अर्थात पूरे विश्व में इसके पाठ्यक्रम को मान्यता प्राप्त हैं।

4. आई०बी० के कक्ष में छात्रों की संख्या सीमित होती हैं। जिस कारण वहाँ प्रत्येक छात्र की मनोस्थिति को समझना आसान हो जाता हैं और शिक्षण-अधिगम प्रकिया को एक नया आयाम मिलता हैं।

5. आई०बी० (IB) को काउंसिल ऑफ यूरोप और यूनेस्को (UNESCO) द्वारा मान्यता प्राप्त हैं।

6. विश्व के अधिकांश विश्विद्यालय एवं बोर्डो ने इसे मान्यता दी है और जहाँ CBSE और ICSE बोर्ड को मान्यता नहीं हैं। वहाँ छात्र इसके माध्यम से अंतरराष्ट्रीय स्तर की शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं।

अंतरराष्ट्रीय बैकालॉरियेट का संगठन (Organization of International Baccalaureate)

इसका मुख्यालय जिनेवा (स्विजरलैंड) में स्थित हैं। जहाँ से इसकी नीति एवं नियमों के संबंध में निर्णय लिए जाते हैं एवं इसका मूल्यांकन केंद्र कार्डिफ वेल्स में स्थित हैं। इसके क्षेत्र के विस्तार एवं इसकी विकास प्रकिया को तीव्र करने हेतु इसके तीन वैश्विक केंद्रों की स्थापना की गई। जिनकी स्थापना सिंगापुर, हेग और यूनाइटेड स्टेट्स में कई गयी।

IB के लक्ष्यों की पूर्ति हेतु इसको तीन क्षेत्रों में विभाजित किया गया –

● हेग (स्विजरलैंड) – इस केंद्र को जिम्मेदारी के रूप में यूरोप,अफ्रीका और मिडिल ईस्ट के प्रशासन को नियंत्रण करने का कार्य दिया गया हैं।

● आई०बी० अमेरिका (IBA) का प्रशासन ब्यास आयर्स,बेथेसता एवं अर्जेंटीना से संचालित किया जाता हैं।

● आई०बी० एशिया पैसेफिक (IBAP) प्रशासन के संचालन का केंद्र-बिंदु सिंगापुर में स्थापित किया गया हैं। वर्तमान समय मे इसके नियंत्रण में सहायता प्रदान करने हेतु 56 उपक्षेत्रीय संगठनों की स्थापना की गई हैं।

अंतरराष्ट्रीय बैकालॉरियेट की विषयवस्तु (Content of International Baccalaureate, IB)

1. आई०बी० अधिगमकर्ता कार्यक्रम (IB Learner Profile) – इस विषय के अंतर्गत इन्क्वायरी , ज्ञान ,सम्प्रेक्षण , विचारक, संतुलित आदि जैसी वस्तुओं से संबंधित विचारों को सम्मिलित किया जाता हैं। जो सामान्यतः चिंतन शक्ति का विकास करने में सहायता करता है।

2. कैरियर संबंधित कार्यक्रम (Career related programme) – यह वह कार्यक्रम है जिसका आयोजन 16 से 19 वर्ष के छात्रों हेतु किया जाता हैं। इस कार्यक्रम का विभाजन तीन रूपों में किया जाता हैं – चिंतनीय प्रोजेक्ट,समुदाय एवं सेवाएं और भाषा विकास।

3. डिप्लोमा संबंधित कार्यक्रम (Diploma Related Program) – इस कार्यक्रम का आयोजन भी 16 से 19 वर्ष के छात्रों हेतु किया जाता हैं। इस कार्यक्रम के अंतर्गत छात्रों को ज्ञान व सिद्धांतो,निबंध,सृजनात्मकता Creativity और सेवाओं के रूपो का अध्ययन कराया जाता हैं।

4. प्राथमिक वर्षीय कार्यक्रम (Primary Year Programme) – इस कार्यक्रम में 3 से 12 वर्षीय छात्रों को सम्मिलित किया जाता हैं। इसमें छात्रों को वास्तविकता से परिचित कराने का कार्य किया जाता हैं।

5. माध्यमिक वर्षीय कार्यक्रम (Middle Year Programme) – इस कार्यक्रम में 11 से 16 वर्ष के छात्रों को सम्मिलित किया जाता हैं। इसमें छात्रों को वैश्विक तत्वों की शिक्षा प्रदान करने का कार्य किया जाता हैं।

निष्कर्ष Conclusion –

यह शिक्षा की गुणवत्तापूर्ण व्यवस्था हैं। चूंकि इसमें छात्रों की संख्या सीमित होती हैं इसीलिए इसमें शिक्षा के उद्देश्यों को आसानी से एवं प्रभावशाली पूर्ण रूप से प्राप्त किया जा सकता हैं। यह कार्यक्रम अधिक व्यवहारिक और क्रियात्मक हैं। इसके द्वारा छात्रों का सर्वांगीण विकास करना आसान हो जाता हैं।

तो दोस्तों आज अपने जाना कि अंतरराष्ट्रीय बैकालॉरियेट (आई०बी) क्या हैं? (International Baccalaureate in Hindi) अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसदं आयी हो तो इसे अपने समस्त मित्रो को अवश्य शेयर करें।

Previous articleमहिला सशक्तिकरण (Women Empowerment Essay in Hindi)
Next articleराज्य के नीति निर्देशक तत्व (Directive Principales of State Policy in Hindi)
Pankaj Paliwal
नमस्कार दोस्तों मेरा नाम पंकज पालीवाल है, और मैं इस ब्लॉग का फाउंडर हूँ. मैंने एम.ए. राजनीति विज्ञान से किया हुआ है, एवं साथ मे बी.एड. भी किया है. अर्थात मुझे S.St. (Social Studies) से जुड़े तथ्यों का काफी ज्ञान है, और इस ज्ञान को पोस्ट के माध्य्म से आप लोगों के साथ साझा करना मुझे बहुत पसंद है. अगर आप S.St. से जुड़े प्रकरणों में रूचि रखते हैं, तो हमसे जुड़ने के लिए आप हमें सोशल मीडिया पर फॉलो कर सकते हैं।

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here